Modi ki Bullet Train par rajniti kyoon ?-

Modi ki Bullet Train/मोदी की बुलेट ट्रेन 

प्रधान मंत्री मोदी ने जापान के साथ मिलकर बुलेट ट्रेन का शिलान्यास क्या किया पुरे देश में लोगों की ज़बान पर मोदी मोदी होने लगा यह अलग बात है की कोई मोदी की तारीफ कर रहा है तो कोई इस परियोजना का फिलहाल सही नहीं बता रहा. यह मतभेद ठीक उसी प्रकार है जिस प्रकार मोदी की नोटबंदी के समय रहा था.

जिस प्रकार नोटबंदी फ़ैल हुयी उस प्रकार कहीं बुलेट ट्रेन परियोजना भी फ़ैल न हो जाए यह संशय आज हर भारतीय नागरिक के मन में है. संशय होना लाज़मी भी है क्यूंकि जिस प्रकार tabad तौड फैसले मोदी सरकार ने लिए है. और उनसे होने वाली परेशानियों से जनता का रूबरू होना पड़ा है. वह इस निर्णय को भी संशय में डालता है.

Modi ki Bullet Train में कितनी लागत होगी ?

जानकारों की माने तो मोदी के बुलेट ट्रेन की कीमत 1.1 लाख करोड़ रूपए होगी. यह सारा पैसा फ़िलहाल तो उधार का ही है जानकार बता रहे है की इस पैसे पर लगने वाला ब्याज 0.1 प्रतिशत की दर से 80 प्रतिशत की राशि का ब्याज जापान खुद वहां करेगा. और यह लगभग 50 साल के लिए होगा. ऐसी खबरें मीडिया में है.

किन्तु इसमें कितनी सच्चाई है अभी कह नहीं सकते, क्यूंकि ऐसा कितना फ़ायदा जापान को इस प्रोजेक्ट से होगा जो जापान लोन राशी का 80 प्रतिशत ब्याज खुद वहां कर रहा है. ऐसा कोई तब ही कर सकता है जब उसे कम लागत के प्रोजेक्ट को अधिक लागत का बताया जाए. यही जानकार यह भी बता रहे है की इस प्रोजेक्ट की अनुमानित लागत इतनी नहीं जितनी दर्शाई जा रही है. जानकार कहते है की इस प्रोजेक्ट की कीमत 1.1 लाख करोड़ रूपए से कम होनी चाहिए.

बहारहाल जो भी हो हमारे देश को एक नयी तकनीक मिलने जा रही है जिससे दूरियां जल्द दूर होंगी.

Modi ki Bullet Train से रोजगार के अवसर/जॉब्स इन बुलेट ट्रेन 

प्रसिद्ध ब्लॉगर दिवाकर झुरानी ( दी फ्लेचेर स्कूल ऑफ़ लॉ एंड डिप्लोमेसी टफ्ट यूनिवर्सिटी, अमेरिका ) एक समाचार पात्र के ब्लॉग में लिखते है की इस परियोजना से बेरोजगार युवाओं को रोज़गार मिलेगा. और अन्य भी कई लाभ होंगे जैसे :-

भारत-जापान रणनीतिक भागीदारी : इस प्रोजेक्ट से भारत और जापान के रिश्ते और बेहतर होंगे और विरोधी देशों जैसे चीन और पाकिस्तान पर प्रभाव डालेंगे. भारत की कोशिश है की डोकलाम विवाद, और पकिस्तान से दिनों दिन बिगड़ते रिश्तों से अलग भारत अपनी एक अलग पहचान बनाएगा. जिसका सीधा असर पाकिस्तान और चीन पर पड़ेगा जो हमसे शत्रुता रखते है. हमारा जापान और अन्य देशो से रिश्ते बेहतर करना एक बढ़िया बात है जिससे हम पड़ोसी शत्रु मुल्को पर दबाव बना सकते है. दूसरी और चीन और जापान के रिश्तों में भी मतभेद है. क्यूंकि जापान को अक्सर चीन की आक्रामकता का सामना करना पड़ता है.

Modi ki Bullet Train पर विपक्ष का वार 

मोदी की बुलेट ट्रेन पर विपक्ष ने तीखा हमला बोला है. विपक्ष के अनुसार यह प्रोजेक्ट भारत आम नागरिकों के लिए काम का नहीं है. क्यूंकि देश का आम नागरिक इस प्रोजेक्ट से नहीं जुड़ पायेगा. विपक्ष का मानना है की गरीब लोग कभी बुलेट ट्रेन में सफ़र नहीं कर पाएंगे. क्यूंकि इसका किराया हवाई जहाज़ के बराबर होगा. विपक्ष ने मोदी सरकार पर एक बड़ा सवाल ज़रूर खड़ा किया की पहले से चली आ रही भारतीय रेल का रखरखाव मोदी सरकार ठीक से नहीं कर पा रही है. हाल ही में देश में कई बड़े ट्रेन हादसे हुए. जिसके कार बीजेपी सरकार के रेल मंत्री सुरेश प्रभु को बड़ी ही चतुराई से हटाया गया.

विपक्ष का मोदी सरकार पर यह भी आरोप है की उसने एक राष्ट्रिय परियोजना को गुजरात में आगामी चुनाव में इस्तेमाल किया और जनता को भ्रमित करने का कार्य किया जबकि प्रोजेक्ट बहूत बड़ा है और इसमें सालों लग जायेंगे.

Modi ki Bullet Train अंतराष्टीय स्तर पर भारत 

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट से भारत की छवि निखर कर निकलेगी. ग्लोबल लेवल पर भारत का अलग मूल्यांकन होगा, यह प्रोजेक्ट दुनिया को एक सन्देश देगा की भारत बदल रहा है और भारत में विकास की रफ़्तार बहूत तेज़ है. इससे विदेशियों के लिए भारत एक मनपसंद जगह बन सकता है. जिससे भारत में पर्यटन और विदेशी निवेश में बढ़ोतरी होगी.

“मेरी राय”

” मैं समझता हूँ की यह प्रोजेक्ट एक बढ़िया प्रोजेक्ट साबित होगा, बशर्ते सुरक्षा की और ठीक प्रकार से ध्यान दिया जाते क्यूंकि जिस प्रकार हमारे देश में आये दिन रेल दुर्घटनाएं होती रहती है. ऐसी दुर्घटनाएं बुलेट ट्रेन के साथ न हो. क्यूंकि तकनीक कोई भी क्यूं न हो उन्हें अमली जामा हमारे देश के वही लोग पहनाएंगे जिनके हाथों में आज भारतीय रेल है. 

दूसरी बड़ी बात मैं यही कहना चाहता हूँ की फिलहाल इस प्रोजेक्ट की देश को आवश्यकता नहीं थी. फिर भी बुलेट ट्रेन यदि देशवासियों पर थोपी गयी है तो भी इस प्रोजेक्ट का भार ज्यादा से ज्यादा सरकार को उठाना चाहिए. जनता के कंधो पर इसका बोझ डाल देने से जनता की कमर टेडी ज़रूर होगी.

होना यही चाहिए की बुलेट ट्रेन के किराये से ही परियोजना की लागत को पूरा किया जाए.

आपके बुलेट ट्रेन के बारें में क्या विचार है. आप नीचे कमेंट्स बॉक्स में अवश्य दीजिये.

 

, , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply