George Saunders को मिला The Man Booker Prize 2017

George Saunders को मिला The Man Booker Prize 2017

लंदन : अमेरिका के लेखक जोर्ज साउंडर ने अपनी पहली किताब “लिंकन इन थे बार्ड़ो ” के लिए The man booker prize जीत लिया है. मृत्यु के बाद और पुनर्जन्म से पहले की अवस्था को बार्ड़ो कहा जाता है. ऐसी मान्यता बोद्ध धर्म के अनुसार मानी जाती है.

George Saunders को यह पुरस्कार अपनी पहली ही पुस्तक के लिए मिला है. जिसमे उन्होंने अब्राहम लिंकन की बार्ड़ो के दोरान वाली स्थिथि का वर्णन बड़े ही रचनात्मक तरीके से किया है. जो एक  ऐसा उपन्यास है जो मरे हुए लोगो के पुनर्जन्म   होने से  पहले की बैचैनी  को दर्शाता है. इस उपन्यास में अशांत  आत्माओ की छटpatahat है, ये आत्माएं मृत्यु के बाद भटक रही है,

The Man Booker Prize 2017 : “लिंकन इन थे बार्ड़ो ” की कहानी अब्राहम लिंकन की कहानी है जिसमे अब्राहम लिंकन की आत्मा अपनी कब्रगाह में अपने  बेटे  बिली से मिलने के लिए उत्सुक है. यह एक ऐसा समूह गान है जिसमे कई चरित्रों ने अपनी उत्सुकता का व्याख्यान किया है. यह सभी चरित्र मृत है लेकिन इनसे जीने का मोह मरने के बाद भी नहीं छूट पा रहा है.

इस उपन्यास के बारें में निर्णायक दल की अध्यक्षा बैरोलेस लोला यंग ने कहा की इसकी नवीन रचना प्रक्रिया, उपन्यास की अलग शैली, और जिस प्रकार सारे मरे हुए लोगो को इस उपन्यास में चित्रित किया गया है यह बेहद विलक्षण है. जो इस पुस्तक को महान बनाता है.

The Man Booker Prize 2017 : इस पुरस्कार का वितरण लंदन में प्रिंस चार्ल्स की पत्नी की मोजुदगी में किया गया. लगातार यह दूसरा वर्ष है जब किसी अमेरिकी लेखक ने यह पुरस्कार जीता है. इस पुरस्कार की राशि पचास हज़ार पौंड यानी 66 हज़ार डोलर है. इस पुरूस्कार की शुरुआत वर्ष २०१४ में हुयी थी.

इससे पहले यह पुरस्कार 2005 में एक कोरियाई लेखक को दिया गया था. इस वर्ष भारत से भी अरुधंति रॉय इस पुरस्कार को पाने के दौड़ में थी. किन्तु उन्हें इसमें स्थान नहीं मिला और यह पुरस्कार अबकी बार George Saunders को उनके उपन्यास “लिंकन इन थे बार्ड़ो” के लिए  दिया गया |

, , , ,

Leave a Reply