युवराज सिंह पर घरेलु हिंसा का केस की खबर | Yuvraj Singh News Hindi

Yuvraj Singh News Hindi : भारतीय हरफनमौला क्रिकेटर युवराज सिंह और उनके परिजनों पर घरेलु हिंसा का केस दर्ज हुआ है | युवराज सिंह की भाभी आकांशा शर्मा ने युवराज सिंह के परिवार पर घरेलु हिंसा का मामला दर्ज करवाया है.

अपडेट : हालाँकि आज युवराज सिंह के वकील ने दावा किया की युवराज सिंह पर घरेलु हिंसा का कोई केस दर्ज नहीं हुआ है 

युवराज, उनकी मां और भाई के वकील दमनबीर सोब्ती ने एक बयान में दावा किया कि यह शिकायत दुर्भावनापूर्ण, बेबुनियाद और काफी देर से दायर की गई है. वकील ने कहा, वह (आकांक्षा ने) सितंबर 2015 में ही अपनी मर्जी से ससुराल से चली गयी थीं और अब जाकर उन्होंने 2017 के आखिर में यह याचिका दायर करने का रास्ता चुना। गुडगांव निवासी आकांक्षा ने आरोप लगाया है कि वह ससुरालवालों के दबाव में थीं जो चाहते थे कि वह बच्चा पैदा करें.

इससे पहले सभी मुख्य न्यूज़ वेबसाइट ने इस खबर को अपने न्यूज़ पोर्टल पर दिखाया था की आकांशा शर्मा ने घरेलु हिंसा के मामले में युवराज सिंह, उनके भाई जोरावर सिंह और माँ शबनम के खिलाफ घरेलु हिंसा की याचिका दायर की है,

आकांक्षा की वकील स्वाति सिंह मलिक ने कहा था की  घरेलू हिंसा का मतलब केवल शारीरिक हिंसा नहीं है. इसका तात्पर्य मानसिक और वित्तीय उत्पीड़न भी है….. युवराज मेरी मुवक्किल पर जोरावर और उनकी मां द्वारा किये गए उत्पीडन पर मूकदर्शक थे.

हालाँकि आकांशा  शर्मा ने इस पर चुप्पी साधे राखी किन्तु उनके वकील स्वाति सिंह मालिक ने बताया था की आकांशा शर्मा ने अपने पति जोरावर सिंह, उनकी सास शबनम सिंह और देवर युवराज सिंह के खिलाफ घरेलु हिंसा का केस दर्ज करवाया है. इस मामले की सुनवाई 21 अक्टूबर को होगी.

आकांशा की वकील स्वाति सिंह मलिक ने बताया की माँ शबनम ने हाल ही में आकांशा के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी और शादी के समय दिए गए जवाहरात और अन्य सामान वापिस मांगे थे.

Yuvraj Singh News Hindi: युवराज सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराने के सवाल पर आकांशा की वकील ने कहा की जब आकांशा के साथ परिवार में अत्याचार हो रहा था तो युवराज सिंह चुप रह रहे हैं जिसका अर्थ यह है की वह भी इस व्यवहार में भागिदार है. अत: उनपर भी यह बात लागू होती है.

Yuvraj Singh News Hindi: स्वाति सिंह का कहना है कि अकांक्षा के पति और सास ने उनपर बच्चे के लिए दबाव बनाया, इसमें युवराज की भी सहमति थी। स्वाति का कहना है कि शबनम हर मामले में हावी होने की कोशिश करती हैं और युवराज और जोरावर के मामलों में भी अक्सर दखलअंदाजी करती हैं।

इस खबर को नवभारत टाइम्स, ndtv और अन्य वेबसाइट ने अपने फर्स्ट पेज पर डिस्प्ले करवाया था, किन्तु आज प्रभात खबर नामक न्यूज़ पोर्टल ने आज इस खबर की अपडेट दी की युवराज सिंह का नाम इस मामले में नहीं है.

 

, , , , , ,

Leave a Reply